Home Blog बालू का अवैध खनन जोरो पर, नावों से उस पार ढोया जा रहा है बालू

बालू का अवैध खनन जोरो पर, नावों से उस पार ढोया जा रहा है बालू

0
बालू का अवैध खनन जोरो पर, नावों से उस पार ढोया जा रहा है बालू

राजस्व विभाग को लग रहा है लाखो का चूना

चहनियां

चन्दौली के तीरगांवा-हसनपुर गांव के सामने नाव से बालू ढोते लोग

बलुआ थाना क्षेत्र के तीरगांवा-हसनपुर गांव के सामने से नाव से बालू इस पार से लादकर उसपार ले जा रहे है । यह खेल काफी दिनों से चल रहा है । जो राजस्व विभाग को हर महीने लाखों का चूना लग रहा है जबकि बालू ढोने के लिए अभी टेंडर भी नही पड़ा है ।


इसे खनन विभाग की लापरवाही कहे या कुछ और । क्षेत्र के तीरगांवा-हसनपुर गांव के सामने लगभग डेढ़ किलोमीटर की दूरी पर गंगा किनारे से बालू बोरी में भरकर नाव से इस पार से उस पार भेजा जा रहा है । यह किसकी आदेश से हो रहा है या फिर बालू माफियाओं द्वारा चोरी से उसपार भेजा जा रहा है । यह पूर्वांचल की सबसे बड़ी रेगिस्तान है । जिसका बालू ढोने का टेंडर होता है । जो बाढ़ से पानी हटने पर बालू उभरकर आया है । टेंडर होने के बाद बालू का राजस्व को जाता है जो अभी इसका टेंडर भी नही हुआ है । नाव से ज्यादा बालू ढोने वाले लोग राजस्व विभाग को चुना लगा रहे है । अवैध खनन का यह खेल विगत कई दिनों से चल रहा है । प्रतिदिन बोरे में भरकर कई चक्कर नाव लगाते है । सफेद बालू का अवैध खनन जोरो पर चल रहा है । हर रोज हजारो बोरी में बालू भरकर नाव से लादकर गाजीपुर जिले में सप्लाई किया जा रहा है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here