Friday, May 24, 2024
spot_img
HomeBlogआनलाइन फ्राड, साइबर ठगी के प्रति उद्योगपति,व्यापारी बन्धु को किया जागरूक

आनलाइन फ्राड, साइबर ठगी के प्रति उद्योगपति,व्यापारी बन्धु को किया जागरूक

-

[metaslider id="3937"]
[metaslider id="3938"]

ऑनलाइन सुरक्षा / साइबर सुरक्षा के सम्बन्ध में पुलिस अधीक्षक चन्दौली डा0 अनिल कुमार द्वारा रामनगर इण्डस्ट्रीयल एसोसिएशन में उद्योगपति,व्यापारी बन्धु के साथ की गयी गोष्ठी ।

साइबर ठगी होने पर तत्काल दें 1930 पर सूचना ।
निजी जीवन में इन्टरनेट के लाभ व दुष्परिणाम से कराया अवगत ।


पीडीडीयू

आरए तिवारी

रामनगर इण्डस्ट्रीयल एसोसिएशन द्वारा साइबर सुरक्षा के सम्बन्ध में यूपीसीडा सभागार, औद्योगिक क्षेत्र रामनगर फेस-1, में आज दिनांक 29.11.2023 दिन बुधवार को मुख्य अतिथि पुलिस अधीक्षक चन्दौली डा0 अनिल कुमार द्वारा, सभागार में उपस्थित उद्योगपति,व्यापारी बन्धु को साइबर क्राइम से बचाव के महत्वपूर्ण टिप्स देते हुए जागरूक किया गया ।


साइबर क्राइम के खिलाफ जागरूकता कार्यक्रम के माध्यम से, पुलिस अधीक्षक चन्दौली ने साइबर सुरक्षा के महत्वपूर्ण पहलुओं के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि साइबर सुरक्षा हमारे डिजिटल जीवन का महत्वपूर्ण हिस्सा बन चुकी है। हम सभी को साइबर क्राइम के जोखिमों के बारे में जागरूक होना जरूरी है ताकि हम अपनी ऑनलाइन सुरक्षा को बढ़ावा दे सकें। इंटरनेट पर सुरक्षित रहने, आनलाइन चैटिंग के दौरान सतर्क रहने, फिशिंग और फ्रॉड से बचने के उपायों के बारे में बताया गया।


बताया कि जैसे इन्टरनेट ने लोगो का जीवन आसान बनाया हैं, और लोगो के व्यवसाय को भी आसान किया है, वैसे ही निजी जीवन और व्यवसाय में खतरे भी बढ़े । यदि इनका सावधानी पूर्वक प्रयोग न किया गया तो साइबर ठगों का शिकार भी बन सकते हैं। साइबर पुलिस चन्दौली द्वारा लगातार साइबर जागरूकता अभियान आम जनमानस में चला रहीं है इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य उद्योगपति,व्यापारी बन्धु को डिजिटल मीडिया के नियमों और सुरक्षा/उपायों के साथ साइबर क्राइम से आत्मरक्षा के लिए तैयार करना है।

साइबर ठगी होनें पर तत्काल हेल्पलाइन 1930 पर सम्पर्क करें।
साइबर सुरलाक्षा हेल्प लाइन 1930 के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी दी। कहा यदि बैंकों से संबंधित किसी प्रकार की साइबर घटना होती है तो सर्व प्रथम 1930 पर सूचना दें। साथ ही स्थानीय पुलिस एवं संबंधित बैंक के शाखा से संपर्क कर अपने साथ होने वाले धोखाधड़ी से बचें और ओटीपी एवं पासवर्ड नंबर को भूलकर भी किसी से साझा न करें।

साइबर अपराध से बचाव हेतु सुझाव-

किसी भी अंजान व्यक्ति को अपनी निजी जानकारी जैसे एटीएम पासवर्ड, क्रेडिट/डेबिट कार्ड नंबर ईमेल, मैसेज या किसी अन्य माध्यम से प्रेषित ना करें।

किसी भी प्रकार की बैंकिग सहायता के लिए गूगल द्वारा मिले नंबरों पर सम्पर्क न करें, बैंक द्वारा जारी किये गये हेल्पलाइन नंबरो पर ही संपर्क करें।
किसी भी अंजान नंबर से आई कॉल पर सामने वाले व्यक्ति को किसी प्रकार की निजी/गोपनीय जानकारी न दें अन्यथा आपसे ठगी की जा सकती है ।


बहुत से लोग शॉपिंग करते वक्त बार-बार कार्ड नंबर एंटर करने की परेशानी से बचने के लिए अपना कार्ड नंबर और एक्सपायरी वगैरह उस साइट पर सेव कर लेते हैं, ऐसा ना करें। किसी भी वेबसाइट, सर्वर, मोबाइल या डेस्कटॉप पर क्रेडिट/डेबिट कार्ड्स की डिटेल सेव न करें।

सार्वजनिक साइबर कैफे में इंटरनेट का प्रयोग करने के बाद हिस्ट्री अवश्य डिलीट कर दें। इस जागरूकता कार्यक्रम साईबर क्राइम सेल चन्दौली के हे0का0 पवन यादव व आरक्षी सन्तोष यादव भी मौजूद रहे।

Related articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected
0FansLike
0FollowersFollow
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Recent Posts