Home चंदौली डा राजेश यादव ने अशोक इंटर कॉलेज में प्रशासक के रूप में लिया चार्ज

डा राजेश यादव ने अशोक इंटर कॉलेज में प्रशासक के रूप में लिया चार्ज

0
डा राजेश यादव ने अशोक  इंटर  कॉलेज में प्रशासक के रूप में लिया चार्ज

नवागत प्रशासक ने अशोक इंटर कॉलेज में लिया चार्ज

चार्ज लेते हुए

नवागत प्रशासक के सामने ही भिड़े अशोक इंटर कालेज के अध्यापक


चन्दौली /बबुरी

बबुरी कस्बा स्थित अशोक इंटर कॉलेज में बृहस्पतिवार को शासन द्वारा नियुक्त नियंत्रक के तौर पर तहत जीआईसी इंटर कॉलेज चकिया के प्रधानाचार्य डा राजेश यादव ने अशोक इंटर कॉलेज में प्रशासक के रूप में चार्ज लिया, वही राजेश यादव ने अशोक इंटर कॉलेज में चार्ज लेने से पहले अशोक इंटर कॉलेज के संस्थापक स्वर्गीय बालकृष्ण की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर फिर लिया चार्ज। चार्ज लेते ही उन्होंने मीटिंग हॉल में सारे अध्यापकों को बुलाकर संबोधित किया वह सबको भरोसा दिलाया की सभी अध्यापक गढ़ अपना काम ईमानदारी पूर्वक करें। उन्होंने सभी कमरों का निरीक्षण किया साफ-सफाई से नाखुश में वही सफाई कर्मी को अच्छी तरह से साफ सफाई करने का निर्देश दिया। पत्रकारों द्वारा प्रेस वार्ता में छात्रों से अधिक फीस वसूली के संबंध में उन्होंने बताया कि हम इसकी जांच करेंगे।

बताते चले की बबुरी बचाओ संघर्ष समिति की पहली बैठक करीब 1 वर्ष पूर्व बबुरी पोखरे पर हुई थी। इस बैठक में बबुरी निवासी विमल कुमार सिंह को संघर्ष समिति का संयोजक चुना गया। संघर्ष समिति क्षेत्रीय जनता के सहयोग से विशेष रूप से अशोक इंटर कॉलेज बचाओ संघर्ष समिति की अगुवाई में अशोक इंटर कॉलेज बबुरी मैं व्याप्त भ्रष्टाचार के विरुद्ध जिला विद्यालय निरीक्षक चंदौली को ज्ञापन दिया। तत्कालीन डीआईओएस डॉ विजय प्रकाश ने विद्यालय परिसर का औचक निरीक्षण किया और छात्रों से पीटीए के रूप में अवैध वसूली के संदर्भ में विस्तार से जानकारी प्राप्त किया कोई कार्रवाई न करने पर कॉलेज के प्रधानाचार्य और बड़े बाबू का वेतन भी रोका,। विश्वविद्यालय के अन्य भ्रष्टाचार का माहौल जवाब जब प्रबंधक अशोक सिंह ने नहीं दिया तब तत्कालीन दी आईओएस ने ज्वाइन डायरेक्टर वाराणसी मंडल को मंडली ऑडिट करने के संदर्भ में पत्र लिखा। मंडली ऑडिट ने प्रबंधक द्वारा अपने बेटे को अशोक इंटर कॉलेज की जमीन बेचने उसके बाद विद्यालय की जिस जमीन पर हाई स्कूल और इंटर की एग्रीकल्चर की मान्यता ली गई है उसे जमीन को अपने भांजे को ट्रस्ट के नाम पर बेचने के बारे में गंभीर आरोप लगाइए। इस जमीन को बेचने में जो धन प्राप्त हुआ उसे रजिस्ट्री पेपर में प्रबंधक के निजी खर्च हेतु दिखाया गया है। डायरेक्टर ने अपनी रिपोर्ट डायरेक्टर को भेजी डायरेक्टर ने जांच पड़ताल करने के बाद पूरी रिपोर्ट शासन को भेज दिया इसके बारे में विशेष सचिव आलोक कुमार एक कक्ष में सुनवाई हेतु प्रबंधक जिला विद्यालय निरीक्षक चंदौली और अन्य अधिकारियों को बुलाया गया था। प्रबंधन पर जो भ्रष्टाचार को आरोप लगे हैं उसका कोई संतोषजनक जवाब नहीं दे पाए केवल उन्होंने कहा है भविष्य में ऐसी गलती नहीं होगी। इस भ्रष्टाचार के लिए मुझे माफ कर दीजिए। अभी इतनी अनियमितता अज्ञानता बस हुई। प्रबंधक ने अपने सारे भ्रष्टाचार को कबूल कर लिया इस आधार पर प्रमुख सचिव दीपक कुमार ने अशोक इंटर कॉलेज बबुरी को 16 D की कार्यवाही करते हुए भंग करके आदित्य नारायण गवर्नमेंट इंटर कॉलेज चकिया के प्रधानाचार्य श्री राजेश यादव को तत्काल प्रभाव से कंट्रोलर नियुक्त कर दिया गया। अशोक इंटर कॉलेज बचाओ संघर्ष समिति ने पूरे क्षेत्रीय जनता ईमानदारी से जांच करने वाले अधिकारियों और उत्तर प्रदेश शासन को इस महान सफलता के लिए बधाई दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here